navratri ekaansh #ekaansh

जय मां विंध्यवासिनी! नमस्कार दोस्तों आज हम आपको मां दुर्गा की नवरात्रि के दिनों में की जाने वाली आराधना के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं। इस बार जो नवरात्रि हैं वह दिनांक 29 नवंबर सितंबर 2019 से शुरू हो रहे हैं।

अब बात करें पहले नवरात्रे की जो कि 29 सितंबर को होगा और दिन इस दिन रविवार है। इस दिन सबसे पहले तो आप कलश स्थापना कीजिए और उसके व्रत होगा मां शैलपुत्री का।

इसके बाद दूसरा नवरात्रि 30 सितंबर 2019 दिन सोमवार और इस दिन जो हम पूजा करते हैं वह करते हैं मां ब्रह्मचारिणी की।

इसके बाद तीसरा नवरात्रि मंगलवार दिनांक 1 अक्टूबर 2019 और सभी को इस दिन मां चंद्रघंटा की स्तुति करनी चाहिए।

इसके बाद चौथा नवरात्रि बुधवार को 2 अक्टूबर 2019 को है। इस दिन मां कुष्मांडा की स्तुति करनी चाहिए।

इसके बाद पांचों नवरात्रि की अगर बात करें तो यह होगा 3 अक्टूबर 2019 को गुरुवार के दिन और इस दिन जो पूजा पाठ किया जाता है वह होता है मां स्कंदमाता का।

इसके बाद छठे नवरात्रि की अगर बात करें तो यह होगा शुक्रवार के दिन 4 अक्टूबर 2019 के दिन और इस दिन मां कात्यायनी की पूजा पाठ करने का विधान है।

इसके बाद सप्तमी है। जो पहला और आखरी व्रत रखते हैं तथा अष्टमी पूजते हैं उनके लिए परेवा और सप्तमी का व्रत रखना होता है। सप्तमी है 5 अक्टूबर 2019, शनिवार के दिन और इस दिन मां कालरात्रि की पूजा पाठ किया जाता है।

इसके बाद अगर बात करें महाष्टमी की तो यह पड़ रही है 6 अक्टूबर 2019 दिन, रविवार के दिन। इस दिन महागौरी की पूजा की जाती है।

इसके बाद बात करें महानवमी की कुछ लोग अष्टमी ना पूजकर नवमी पूजते हैं। तो उनके लिए बता दें कि महानवमी इस बार सोमवार के दिन 7 अक्टूबर 2019 को है और इस दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है। इस तरह हमारे नवरात्रि संपन्न होते हैं।

एकांश ब्लॉग की और से हम लोग आपकी उन्नत और स्वस्थ जीवन की कामना करते हैं। हमारी यह प्रार्थना है कि सभी भक्तजन जो भी मां की आराधना करते हैं, उन सभी की मनोकामना मां भगवती जरूर पूरी करें।

यदि आपको उपरोक्त दी गई जानकारी अथवा यह लेख अच्छा लगा हो तो कृपया कर के हमारे चैनल (#ekaansh) को फॉलो / सब्सक्राइब जरूर करें ताकि आपको इसी प्रकार के लेख, जानकारियां और खबरें सबसे पहले मिलती रहे। साथ ही अपनी पसंद की न्यूज़ को लाइक और शेयर भी जरूर करें जिससे दूसरे लोग भी इसका लाभ उठा पाएं। अगर आपका कोई प्रश्न हो तो कमेंट कर के हम से जरूर पूछें।

नोट: उपरोक्त दी गईं जानकारियाँ, सिफारिशें और सुझाव प्रकृति में सामान्य हैं। यदि आप स्वयं पर इसका प्रयोग करना चाहते हैं तो पहले एक पंजीकृत या प्रमाणित पेशेवर या ट्रेनर से परामर्श जरूर कर लें। उसके उपरान्त ही इस सलाह पर अमल कीजिये।

नवरात्रि पर किस दिन करें किस देवी की आराधना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

16 + fifteen =