sapne mei sury grahan dekhna shubh ya ashubh,, sapne ekaansh astro #ekaansh ekaansh blog post sapne mei sury grahan dekhna
Image Source: Pexels

यूं तो सपनों की अपनी अलग ही दुनिया होती है । हर एक व्यक्ति सोते समय कोई न कोई सपना जरूर देखता है । सनातन धर्म में भी सपनों का विशेष महत्व है । कुछ सपने दिल को सुकून देने वाले होते हैं तो कुछ व्यक्ति को जीवन में आने वाली परेशानियों की आहट सुना देते हैं । हम में से बहुत से लोग सपने और उससे जुड़े रहस्यों के बारे में जानना चाहते हैं । हमने आपके लिए सपनों से जुड़े रहस्यों के बारें में बताने की सिरीज़ शुरू की हुई है और आज इसका तीसरा भाग प्रस्तुत है । आज हम आपको सपने में सूर्य ग्रहण दिखने  के बारें में बताएँगे ।

आपको बता दें अगर आपको सपने में सूर्य ग्रहण दिखाई दिया है तो यह एक बुरे सपने की श्रेणी में आता है । सूर्य ग्रहण के दिखाई देने पर आपके जीवन में नकारात्मक ऊर्जा का संकेत है । ये आपके आत्मविश्वास में कमी का सूचक भी है । नौकरी पेशा लोगों को कार्यक्षेत्र में बाधा उत्त्पन्न हो सकती है । सहकर्मियों के साथ वाद विवाद हो सकता है । सामाजिक तौर पर आपके मान सम्मान पर कुठराघात हो सकता है ।

परिवार में गृह कलेश हो सकते है । कोई आपका अपमान भी कर सकता है । आपके स्वास्थ्य पर भी बुरा प्रभाव पड़ सकता है । व्यापारियों को धन हानी हो सकती है ।

उपाय : आप भगवान सूर्य की पूजा करें । सूर्य को अर्क दें । जितना सामर्थ हो उतना दान दक्षिणा दें । ध्यान रखें की दान हमेशा ऐसे व्यक्ति को दें जो सही में दान पाने का हकदार हो वरना आपका दान फलीभूत नहीं होता है ।

यदि आपको उपरोक्त दी गई जानकारी अथवा यह लेख अच्छा लगा हो तो कृपया कर के हमारे चैनल (#ekaansh) को फॉलो / सब्सक्राइब जरूर करें ताकि आपको इसी प्रकार के लेख, जानकारियां और खबरें सबसे पहले मिलती रहे। साथ ही अपनी पसंद की न्यूज़ को लाइक और शेयर भी जरूर करें जिससे दूसरे लोग भी इसका लाभ उठा पाएं। अगर आपका कोई प्रश्न हो तो कमेंट कर के हम से जरूर पूछें।

नोट: उपरोक्त दी गईं जानकारियाँ, सिफारिशें और सुझाव प्रकृति में सामान्य हैं। यदि आप स्वयं पर इसका प्रयोग करना चाहते हैं तो पहले एक पंजीकृत या प्रमाणित पेशेवर या ट्रेनर से परामर्श जरूर कर लें। उसके उपरान्त ही इस सलाह पर अमल कीजिये।

स्वप्नफल : सपने में सूर्य ग्रहण देखना शुभ या अशुभ ! भाग -3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen − 17 =