नाइलेट ने की एडवांस कंप्यूटर पाठ्यक्रमों की शुरुआत

संवादाता: राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (नाइलिट) हरिद्वार में उच्च पाठ्यक्रमों का शुभारम्भ किया गया। इस अवसर पर संस्थान के निदेशक श्री अनुराग कुमार ने अवगत कराया कि आईओटी, पाइथन, एम्बेडेड सिस्टम और मेटलैब जैसे उच्च पाठ्यक्रमों की सुविधा अब हरिद्वार में उपलब्ध है एवं नाइलिट ने इन पाठ्यक्रमों के संचालन के लिए एडवांस्ड लैब की स्थापना की है। उन्होंने यह भी बताया कि नाइलिट समय-समय पर अपने पाठ्यक्रमों में समय की मांग के अनुसार बदलाव तथा नवीनीकरण करता रहता है।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि डा0 आलोक कुमार गुप्ता, प्रधानाचार्य, चिन्मय डिग्री कॉलेज ने कहा कि यह बहुत हर्ष का विषय है कि अब हरिद्वार जिले में भी एडवांस टेक्नोलॉजी पाठ्यक्रमों की सुविधा उपलब्ध हो गई है, जिससे कि यहां के छात्रों को इलेक्ट्रानिक्स एवं आईटी के उच्च पाठ्यक्रमों के लिये बहुत दूर शहरों में नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने नाइलिट द्वारा नई तकनीकी एवं रोजगारपरक पाठ्यक्रमों की शुरुआत करने की पहल की सराहना की। इस अवसर पर उन्होंने छात्रों को उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं भी दीं।

कार्यक्रम के विशेष अतिथि के रूप में श्री तरूण गर्ग, प्रधानाचार्य, राजकीय पॉलिटेक्निक हरिद्वार ने भी छात्रों को उनके कैरियर में उचांइयां छूने के लिये प्रोत्साहित करते हुए बताया कि परिश्रम ही सफलता की कुंजी है। उन्होंने यह भी बताया कि आज के दौर में एडवांस कंप्यूटर पाठ्यक्रमों की मांग भारत ही नहीं अपितु अंतराश्ट्रीय स्तर पर भी निरंतर बढ़ती जा रही है।

संस्थान के संयुक्त निदेशक श्री संयम राठौड़ ने बताया कि नाइलिट के पाठ्यक्रमों की मांग सरकारी सेवाओं के साथ-साथ प्राइवेट क्षेत्रों में भी बहुत ज्यादा है। उन्होंने यह भी बताया कि इन सूक्ष्म अवधि के पाठ्यक्रमों के अलावा नाइलिट में ओ-लेवल तथा ए-लेवल के डिप्लोमा पाठ्यक्रमों में भी प्रवेश प्रक्रिया जारी है, जिनमें अनुसूचित जाति एवं जनजाति के छात्रों के लिए निशुल्क प्रवेश की सुविधा उपलब्ध है। उन्होंने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि जो छात्र इंटरमीडिएट के बाद आईटी के क्षेत्र में भविष्य की संभावनाएं तलाश कर रहे हैं उनके लिये ये पाठ्यक्रम बहुत उपर्युक्त हैं।

इस कार्यक्रम के दौरान नाइलिट हरिद्वार के निखिल रंजन, वरुण मिश्रा एवं अन्य स्टाफ ने शामिल रहकर छात्रों का उत्साहवर्धन किया।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen + 9 =