|

नाइलेट द्वारा COVID – 19 महामारी पर SMJN कॉलेज में वर्कशॉप का आयोजन

हरिद्वार। राष्ट्रीय इलैक्ट्रोनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, भारत सरकार एवं एस.एम.जे.एन. पी.जी. काॅलेज के संयुक्त तत्वाधान में दिनांक 18-4-2023 को ’कोविड-19 : वैश्विक महामारी रोकथाम’ सम्बन्धी एक वर्कशाॅप का आयोजन संरस्वती वन्दना व दीप प्रज्जवलित कर किया गया।

श्री अनुराग कुमार, निदेशक, राष्ट्रीय इलैक्ट्रोनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, भारत सरकार ने वैश्विक महामारी कोविड-19 तथा साईबर क्राइम की चर्चा करते हुए बताया कि बचाव ही कोविड-19 का इलाज है। उन्होंने कहा कि साईबर क्राईम व कोविड-19 के प्रति लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता है। नाइलैट स्कीम से छात्र छात्राओं को उपलब्ध सहायता के बारे में बताया जानकारी देते हुए डाॅ. अनुराग कुमार ने कहा कि नोलेज आफ स्किल रोजगार का एक अच्छा साधन हो सकता है। नयी टैक्नोलाॅजी के उपयोग का आह्वान करते हुए उन्होंने कहा कि कोविड-19 ने आपसी सम्बन्धों को महत्व दिया, इसलिए अपने परिजनों, साथियों के साथ सौहादपूर्ण व्यवहार रखें।

राष्ट्रीय इलैक्ट्रोनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान के श्री निखिल रंजन, सीनियर प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर ने साइबर सुरक्षा को लेकर सजग हो जाने की अपील की। उन्होंने बताया की कोविड-19 के लिए तकनीकि किस प्रकार सहायक हो सकती है। साथ ही उन्होंने आरोग्य सेतु ऐप, आभा ऐप, सीनियर सीटिजन हेल्पलाईन नम्बर आदि की विस्तार से जानकारी दी।

काॅलेज के प्राचार्य प्रो. सुनील कुमार बत्रा ने सभी अतिथियों का स्वागत व आभार प्रेषित करते हुए कहा कि यह वर्कशाॅप जी-20 के तहत दिये गये कार्यक्रमों में से एक है जो नाइलेट के साथ मिलकर किया गया है। कोविड-19 काल में मानवता की सच्ची सेवा, प्रशासन और शासन की मद्द करने पर काॅलेज प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष श्री महन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज को ‘मदर आफ उत्तरखण्ड’ के नाम से नवाजा गया। प्रो. बत्रा ने कहा कि हम विद्यार्थियों का चहुंमुखी विकास करना चाहते हैं, नाइलैट के माध्यम से विद्यार्थियों के लिए कुछ नये एड आन कोर्सेज चलाने के लिए प्रयासरत हैं। इस माध्यम से उद्योग एवं शिक्षण संस्थानों के मध्य रिक्तता में सामंजस्य स्थापित करने में मदद मिलेगी। इस हेतु महाविद्यालय में कम्प्यूटर लेब का नवीनीकरण भी किया गया।

चिकित्सक डाॅ. प्रदीप त्यागी ने कोविड जागरूकता के विषय में बताया कि भारत के पास अपनी वैक्सीन है। युवाओं और बच्चों को कोविड प्रभावित नहीं करता। उन्होंने कहा कि 60 वर्ष से ऊपर के लोग कोरोना से अधिक प्रभावित हुए हैं। कार्यक्रम का सफल संचालन करते हुए अधिष्ठाता छात्र कल्याण डाॅ. संजय कुमार माहेश्वरी ने सभी अतिथियों का धन्यवाद प्रेषित किया। इससे पूर्व अनन्या भटनागर द्वारा कोविड-19 पर स्वरचित गीत की प्रस्तुति दी।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × 4 =