संवादाता. चिन्मय डिग्री काॅलेज, हरिद्वार में “डिजिटल भुगतान प्रणाली एवं साइबर सुरक्षा’’ पर एक कार्याशाला आयोजित की गई। इस अवसर पर राष्ट्रीय इलेक्ट्राॅनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (नाइलिट), हरिद्वार के तकनीकी विषेशज्ञों के द्वारा महत्वपूर्ण जानकारियां साझा की गयी।
नाइलिट के श्री निखिल रंजन ने डिजिटल भुगतान प्रणाली की जरूरतों के बारे में छात्रों को जागरूक किया। उन्होंने बताया की किस तरह से छोटी-छोटी सावधानियां बरतकर हम अपने डिजिटल भुगतानों को सुरक्षित बना सकते हैं। उन्होंने विधार्थियों को विभिन्न प्रकार से होने वाले डिजिटल भुगतान प्रणालियों तथा भारत सरकार द्वारा डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए किए जाने वाले विभिन्न प्रयासों से भी अवगत कराया।
श्री निखित रंजन ने सिडकुल हरिद्वार में स्थित नाइलिट के रीजनल सेंटर पर संचालित विभिन्न डिजिटल साक्षरता पाठ्यक्रमों तथा अन्य रोजगार परक कार्यक्रमों के बारे में भी बताया। उन्होंने यह भी बताया कि नाइलिट के सिडकुल हरिद्वार स्थित केंद्र पर अनुसूचित जाति एवं जनजाति के छात्र एवं छात्राओं के लिए निशुल्क शिक्षा एवं प्रशिक्षण की सुविधा उपलब्ध है। साथ ही उन्होंने सामान्य वर्ग एवं अन्य पिछड़ा वर्ग की छात्राओं तथा दिव्यांग जनों के लिये नाइलिट की ’’प्रोत्साहन पुरस्कार योजना’’ की भी जानकारी दी।
कार्यशाला के दौरान चिन्मय डिग्री काॅलेज के प्रधानाचार्य डाॅ आलोक कुमार, डाॅ पी.के. शर्मा, डाॅ अजय कुमार, श्रीमति संध्या एवं समस्त स्टाफ तथा नाइलिट के श्री कमल कुमार भट्ट भी उपस्थित रहे। कार्याशाला के समापन पर भौतिकी संकाय अध्यक्ष डाॅ पी.के. शर्मा ने नाइलिट के विषेशज्ञों को धन्यवाद दिया तथा भविष्य में इस तरह की और भी कार्यशालाओं का आयोजन किये जाने पर बल दिया।
कार्यशाला के दौरान नाइलिट द्वारा ’’डिजिटल भुगतान और साइबर सुरक्षा’’ के उपर एक प्रश्नोत्तरी का भी आयोजन किया गया, जिसमें संस्थान के विद्यार्थियों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। प्रथम तीन स्थान प्राप्त करने वाले विधार्थियों सुरभि, पवन एवं स्वीकृति को नाइलिट के द्वारा स्मृति चिन्ह देकर पुरस्कृत भी किया गया।

डिजिटल भुगतानों के प्रति नाइलिट ने किया छात्रों को जागरूक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 − five =